ताजा समाचारब्रेकिंग न्यूज

जादा ले जादा किसान मन ल सोलर सिंचाई पम्प लेहे बर करव प्रोत्साहित

मुख्यमंत्री ह प्राधिकरण के बैठक म जनप्रतिनिधि मन ले करिस अपील

राज्य ग्रामीण क्षेत्र अउ पिछड़ा वर्ग क्षेत्र विकास प्राधिकरण के बैठक 0 पुस्तिका घलोक विमोचित
रायपुर । मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ह आज संझा इहां विधानसभा परिसर स्थित नवीन समिति कक्ष म छत्तीसगढ़ राज्य ग्रामीण अउ आन पिछड़ा वर्ग क्षेत्र विकास प्राधिकरण के उपलब्धि मन उपर आधारित पुस्तिका के विमोचन करिस। पुस्तिका म प्राधिकरण के उपलब्धि मन के सचित्र विवरण देहे गे हे। मुख्यमंत्री के अध्यक्षता म ए प्राधिकरण के स्थापना साल 2012 म करे गए रहिस। उंखर अध्यक्षता म आज प्राधिकरण के दसवां बैठक घलो विधानसभा के नवीन समिति कक्ष म आयोजित करे गीस। डॉ. सिंह ह जनप्रतिनिधि मन अऊ वरिष्ठ अधिकारी मन के संग बैठक म प्राधिकरण क्षेत्र के अंतर्गत स्वीकृत अऊ निर्माणाधीन काम मन के विस्तृत समीक्षा करिन।
मुख्यमंत्री ह बैठक म कहिन कि राज्य शासन कोति ले सौर सुजला योजना के तहत पूरा प्रदेश म 51 हजार किसान मन ल नाम मात्र के कीमत म सोलर सिंचाई पम्प देहे के लक्ष्य हे। एखर अंतर्गत अब तक करीबन 36 हजार सोलर सिंचाई पम्प स्वीकृत करे गए हे अउ ओमां ले 25 हजार किसान मन के खेत मन म इंकर स्थापना होवइया हे। ये सोलर सिंचाई पम्प किसान मन के सिरिफ सात हजार ले 20 हजार रूपिया तक अंशदान लेके देहे जात हे। राज्य सरकार ह ये तय करे हे कि प्राधिकरण मद के राशि ले अब जादा ले जादा किसान मन ल सोलर सिंचाई पम्प स्वीकृत करे जाय। डॉ. सिंह ह प्राधिकरण क्षेत्र के जनप्रतिनिधि मन ले आग्रह करिन कि ओ मन अपन क्षेत्र के जादा ले जादा किसान मन ल ए योजना ले जुड़े बर प्रोत्साहित करव। ए साल सौर सुजला योजना के तहत सोलर पम्प स्थापना के शत-प्रतिशत लक्ष्य पूरा करे के दिशा म तेजी ले काम करे के जरूरत हे। बैठक म बताए गीस कि साल 2012 म राज्य ग्रामीण अउ आन पिछड़ा वर्ग क्षेत्र विकास प्राधिकरण के स्थापना ले लेके अब तक कई ठन बैठक मन म प्राधिकरण के राशि ले चार हजार 893 किसान मन के सिंचाई पम्प मन ल बिजली के कनेक्शन देहे बर 24 करोड़ रूपिया मंजूर करे गए हे। एमां ले अब तक चार हजार 744 सिंचाई पम्प मन के विद्युतीकरण करे जा चुके हे। मुख्यमंत्री ह निर्माण काम मन के समीक्षा के बेरा अधिकारी मन ले कहिन कि वित्तीय साल 2015-16 के अधूरा काम मन ल मार्च 2018 तक अऊ साल 2016-17 के अधूरा काम मन ल जून 2018 तक पूरा कर ले जाही।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close