विशेष

एक माउंटेंट मेन छत्तीसगढ़ म घलो हे, जेन ह 27 साल ले धरती के सीना चीरके गंगा बहाए के कोशिश म लगे हे

15 साल के उमर ले भिड़ गे हे तरिया खोदे बर, पानी के किल्लत ले छुटकारा पाए पर छेड़े हे मुहिम

कोरिया ले सोनू केदार के रिपोर्ट

जय जोहार. कोरिया जिला के चिरमिरी म एक झन अईसे भागीरथी हे जेन ह धरती के सीना ल चीरके अपन गांव मं पानी बहाए के रद्दा देखत हे, अऊ संगे संग ऐखर बर 27 ले मेहनत करते हे। हम बात करत हन श्यामलाल रजवाड़े के, जेन ह अपन जिद ल अब अपन लक्ष्य बना डरे हे। झारखंड के माउंटेंट मेन मांझी के कहानी अऊ ओखर उपर बने फिलिम ल आप मन जरूर देखे होहू लेकिन आज आप मन ले छत्तीसगढ़ के एक अईसे मनखे के कहानी ल बतावत हन जे जिद करके दुनिया ल बदले के कोशिश वाले बात ल चरितार्थ करत हे। भले ही आज के बखत म कोनों के पास समय नई हे लेकिन अईसे बिरले मनखे मन ल जानना बेहद जरूरी हाबे जेन ह अपन इरादा के पक्का हे। ऐला अब सनक कहिबो या फेर ऐ इंसान के जिद कि 42 बरस के श्यामलाल ह पिछले 27 साल पहिली से तरिया खोदत हे। वहू म अकेल्ला। जब ऐ ह ऐ काम ल शुरू करिन त ऐखर उमर रिहिस मात्र 15 बछर के।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close