रघुबीर…

रघुबीर…
Like This Video 0 385 jayjohar
Added by September 14, 2017
मैं ह आवों टूरा राईगढ़िया, असली छत्तीसगढ़िया..

 

 

माटी ल छोड़ झन जाना, जल्दी ते लहुट के आना..

 

 

रतिहा सजन मोर सपना म आए..

 

 

ऐ गड़ी कोई दर्द जिया के न जाने…

 

 

का मया के जादू डारे रे, का पिरित के दीयना बारे वो

 

 

संती ते सुन ले, बात मोर गुन ले..

 

 

काजर के कोठी म चंदा लुका गे वो…

 

 

जईसे चंदा अऊ सुरुज के, जईसे धरती अऊ गगन के..

 

 

सपना हो गे मन के बात, रे सुअना..

 

Similar Videos

देवता झुपत हे (दुकालू यादव)

0 143 1

रन बन रन बन हो तुम खेलौ दुलरवा   अंधरी अंधारा दाई ददा ल, तिरथ घूमा दिए रे   गजरा लगाए मैया गजरा लगाए..     मैया के चुनरी हे लाल के, नवरात्री मनाबो ऐसो साल के     कोनों

मां के नाचे लगुंरवा..

0 230 13

का मोहनी भराए दाई तोर गांव म   बीरा के पानी लिमऊवा चानी वो   मोर दाई नव दुर्गा, माटी म तोला सिरजाओं   झुम झुम के, नाचत हे लंगुरवा ह झुम झुम के   चलो दीदी जाबो वो, चलो

दगा झन देबे..

0 230 1

जब मैं बनठन के निकलथों, हां रे सजधज के निकलथों     दगा झन देबे तैं जंवारा, मया पिरित बढ़ा के..     मया के बान चलाके मोर दिल ल काबू करे..     जब सुरता तोर आहि मोला अड़बड़

No Comments

No Comments Yet!

No Comments Yet!

But You can be first one to write one

Write a Comment

Your data will be safe!

Your e-mail address will not be published. Also other data will not be shared with third person.
Required fields are marked*