पुराने

तोर बिना का जीना रे..

0 243 18

तोर बिन कईसे जीहूं रे…   आई जाबे वो मोर रानी, बीच डोंगरी म मैं अगोर लेहुं..   बावा बिगड़ गे तोर ठसन म..   मच्छरदानी ल तान उतान परे हों खटिया म   मोर सतरंगी, खोजत रहिथों रे तोला

मोला का होगे..

0 88 4

आजा रे आजा रे परदेसी आ..     आई एम छत्तीसगढ़िया, मोर चाल चलन हे बढ़िया     ऐ रंगरसिया जोड़ीदार, मोर हिरदे म मारे कटार..     मोर मन ल जादू करे, मोर तन ल काबू करे..    

बिदाई..

0 75 3

जीवन जीए के नाम, मौज करव..   मैं घिर आयो घनघोर भंवर म….   मन ले मिलगे, मन ह तोर मोर…   गोबर दे बछरू गोबर दे…. टूरा कमाल के काम बेमिसाल के….   एक ठन रूमाल दे दे, प्यार के

दू लफाडू…

0 63 3

आगू के जमाना नदा जाहि रे भैया….   संग म लाए हे नवा फंडा, पाछू म परहि डंडा.. पान म जईसे चूना कत्था, एक हे लस्सी एक हे मट्‌ठा नैन लड़ाले बात बढ़ाले ऐ बाबू… मस्ती म झूमे भंवरा रे,

दगा झन देबे..

0 55 1

जब मैं बनठन के निकलथों, हां रे सजधज के निकलथों     दगा झन देबे तैं जंवारा, मया पिरित बढ़ा के..     मया के बान चलाके मोर दिल ल काबू करे..     जब सुरता तोर आहि मोला अड़बड़

मया म का जादू हे

0 45 0

तोर नैना म का जादू हे वो, बईहा मोला बना दिए न     तोर मया म वो का जादू हे     गए जमाना सलवार अऊ समीज के..     बोली मदरस के छेड़े मोला तान, कजरेरी टूरी..  

तीजा के लुगरा..

0 48 0

सारी तैं हस बड़े भारी, कईसे लेगहूं तोला..     मोला हांसे चाहे जमाना रे, इहां मया हे मोर ठिकाना रे..     नानुक लईका के किस्मत फूटगे,, का होगे भगवान     दाई ददा के दुलार, भाई बहिनी के

कारी…

0 57 0

आंखी मारे दिवाना रे मोला रईपुर शहर के..     सुन्ना होगे जग, बिना जोड़ी संगवारी के..   तोला भरोसा मोर मया के हाबे रे..     अन्याई के राज चले नई हे ज्यादा दिन..     खिनवा नई मांगो