नवा नवा

राजा छत्तीसगढ़िया..

0 500 35

बिजुरी गिरा के निदिंया उड़ा के, का मोहनी खवा दिए रे..       बाली उमर के झन कर गुमान, दू चार दिन म खिया जहि वो..     ऐ दे धमतरी गंगरेल म बईठे तैं अंगार मोती    

तोर बिना का जीना रे..

0 405 19

तोर बिन कईसे जीहूं रे…   आई जाबे वो मोर रानी, बीच डोंगरी म मैं अगोर लेहुं..   बावा बिगड़ गे तोर ठसन म..   मच्छरदानी ल तान उतान परे हों खटिया म   मोर सतरंगी, खोजत रहिथों रे तोला

रघुबीर…

0 397 18

मैं ह आवों टूरा राईगढ़िया, असली छत्तीसगढ़िया..     माटी ल छोड़ झन जाना, जल्दी ते लहुट के आना..     रतिहा सजन मोर सपना म आए..     ऐ गड़ी कोई दर्द जिया के न जाने…     का

प्रेम सुमन..

0 451 29

म्यूजिक थीम..     जा जा रे सुवना तैं उड़ी चली जाबे..     नर मा नरायण भैया लागे, भौजी म सऊंहत लक्ष्मी बिराजे..     मोर सुत जा दुलरवा बाबू, सुत जा न ग..     आंखि म तोर

मोला का होगे..

0 316 5

आजा रे आजा रे परदेसी आ..     आई एम छत्तीसगढ़िया, मोर चाल चलन हे बढ़िया     ऐ रंगरसिया जोड़ीदार, मोर हिरदे म मारे कटार..     मोर मन ल जादू करे, मोर तन ल काबू करे..    

लीलागर.. फिल्मी गीत

0 236 4

गुजगुल हाबे वो, गोरी तोर बारी के पताल..     सुनो ग संगी, सुनो ग साथी, ले के आहों गागर म सागर     तोर मया के पिरित म बईहा बन गे हों में लीला     गोरी के गाल

लैला टीपटॉप छैला अंगूठा छाप

0 180 0

चूरी अऊ सिंदूर के खातिर तोरो ले लड़ जाहूं वो..     कलजुग म दारू मिले कूद कूद के पी..     तोरे गाल खिया जाहि का वो…     मन मिलाके तैं दगा देबे का..     का करों

दगा झन देबे..

0 243 1

जब मैं बनठन के निकलथों, हां रे सजधज के निकलथों     दगा झन देबे तैं जंवारा, मया पिरित बढ़ा के..     मया के बान चलाके मोर दिल ल काबू करे..     जब सुरता तोर आहि मोला अड़बड़

बीए फर्स्ट इयर

0 192 4

ओ मोरे साजना, मने मन मोला अब रोवाली आए   आजा न आजा न आजाना रे, तें अब मोला झन तरसाना रे     मोरे मन के सजनी तैं, मोरे मन के सजना तैं..   खींच के मोला मार दिसे,

कारी…

0 266 0

आंखी मारे दिवाना रे मोला रईपुर शहर के..     सुन्ना होगे जग, बिना जोड़ी संगवारी के..   तोला भरोसा मोर मया के हाबे रे..     अन्याई के राज चले नई हे ज्यादा दिन..     खिनवा नई मांगो

चंद्रमुखी..

0 183 0

देख के टूरा मन ल मारे स्टाईल, गोरी धरे हस ते ह मोबाईल..   चंद्रमुखी वो, तोला देखों रे बनके चकोर…     छम्मक छल्लो गोरी तोर नाव तो बता…     चंद्र बदन मृगनयनी, तोर कन्हिया ले झुलत हे

तीजा के लुगरा..

0 168 0

सारी तैं हस बड़े भारी, कईसे लेगहूं तोला..     मोला हांसे चाहे जमाना रे, इहां मया हे मोर ठिकाना रे..     नानुक लईका के किस्मत फूटगे,, का होगे भगवान     दाई ददा के दुलार, भाई बहिनी के

नवा

बही तोर सुरता म…

0 104 0

Artist : Arya Dhavaj, Tanya Tiwari, Kamal Sahu, Ahana Fransis, Dharmendra Chaube, Vinay Ambast, Usha, Savta ,

महुं दिवाना तहुं दिवानी…

1 90 1

Starcast: Anuj Sharma, Yogendra Choube, Rizwana Shaikh, Upasna Vaishnav

प्रेम सुमन छत्तीसगढ़ी फिलिम

0 68 0

कलाकार: मन कुरैशी, अनुकृति चौहान Directed By Gulam Haidar Mansoori

पुराना

तोर बिना का जीना रे..

0 405 19

तोर बिन कईसे जीहूं रे…   आई जाबे वो मोर रानी, बीच डोंगरी म मैं अगोर लेहुं..   बावा बिगड़ गे तोर ठसन म..   मच्छरदानी ल तान उतान परे हों खटिया म   मोर सतरंगी, खोजत रहिथों रे तोला

मोला का होगे..

0 316 5

आजा रे आजा रे परदेसी आ..     आई एम छत्तीसगढ़िया, मोर चाल चलन हे बढ़िया     ऐ रंगरसिया जोड़ीदार, मोर हिरदे म मारे कटार..     मोर मन ल जादू करे, मोर तन ल काबू करे..    

दगा झन देबे..

0 243 1

जब मैं बनठन के निकलथों, हां रे सजधज के निकलथों     दगा झन देबे तैं जंवारा, मया पिरित बढ़ा के..     मया के बान चलाके मोर दिल ल काबू करे..     जब सुरता तोर आहि मोला अड़बड़

कारी…

0 266 0

आंखी मारे दिवाना रे मोला रईपुर शहर के..     सुन्ना होगे जग, बिना जोड़ी संगवारी के..   तोला भरोसा मोर मया के हाबे रे..     अन्याई के राज चले नई हे ज्यादा दिन..     खिनवा नई मांगो

धार्मिक

मां के जगमग दियना

0 142 2

तोर भुवना वो दाई तोर भुवना…     मैया जी बर गड़ देबे, भईया सोनरवा     जग मग जग मग हो…  

मां के नाचे लगुंरवा..

0 237 13

का मोहनी भराए दाई तोर गांव म   बीरा के पानी लिमऊवा चानी वो   मोर दाई नव दुर्गा, माटी म तोला सिरजाओं   झुम झुम के, नाचत हे लंगुरवा ह झुम झुम के   चलो दीदी जाबो वो, चलो

मां के लाली चुनरिया (अलका चन्द्राकर)

0 154 1

लाली लाली चुनरी में सोन धरी लुगरा, अंग अंग गहना सजाए   लें हौं वो तोर नाव हों मां   ढोल बाजे रे, नंगाड़ा बाजे न   निर्मल पानी भवानी मां, ताल सगुरिया के हो   मना के लाबो जी,

तैं झुपत आबे दाई.. (दुकालू यादव)

0 150 0

संझा बिहनिया हो, मैं आतरी उतारों मैंया.. खाटी खाटी गांजा ल पीए मोर औघड़ दानी   छोटे छोटे तोर लईका वो दाई, कईसे करन तोर बिदाई     ऐ देवी, ऐ दाई, ऐ मैया     तैं झुपत आबे वो,

देवता झुपत हे (दुकालू यादव)

0 150 1

रन बन रन बन हो तुम खेलौ दुलरवा   अंधरी अंधारा दाई ददा ल, तिरथ घूमा दिए रे   गजरा लगाए मैया गजरा लगाए..     मैया के चुनरी हे लाल के, नवरात्री मनाबो ऐसो साल के     कोनों

झूपत झूपत आबे दाई (दुकालु यादव)

0 179 1

झूपत झूपत आबे दाई   मुंड म बिराजे हाबे महामाई न, मोहनी बरन लागे     कोरी कोरी नरियर चघावों दाई तोला वो   रिग बिग, रिग बिग जोति बरत हे, लहरावत हे जंवारा हो मां   लंगूर नाचे ताता

पारंपरिक