तोर बिना का जीना रे..

तोर बिना का जीना रे..
Like This Video 0 356 jayjohar
Added by September 14, 2017
तोर बिन कईसे जीहूं रे…

 

आई जाबे वो मोर रानी, बीच डोंगरी म मैं अगोर लेहुं..

 

बावा बिगड़ गे तोर ठसन म..

 

मच्छरदानी ल तान उतान परे हों खटिया म

 

मोर सतरंगी, खोजत रहिथों रे तोला बन बन म..

 

 सतरंगी रे मोला सुरता म डारे तैं आहूं कहिके रे..

 

अब सीधा प्रसारण करवाहूं चंदा रे…

 

Similar Videos

बिदाई..

0 145 4

जीवन जीए के नाम, मौज करव..   मैं घिर आयो घनघोर भंवर म….   मन ले मिलगे, मन ह तोर मोर…   गोबर दे बछरू गोबर दे…. टूरा कमाल के काम बेमिसाल के….   एक ठन रूमाल दे दे, प्यार के

मां के लाली चुनरिया (अलका चन्द्राकर)

0 124 1

लाली लाली चुनरी में सोन धरी लुगरा, अंग अंग गहना सजाए   लें हौं वो तोर नाव हों मां   ढोल बाजे रे, नंगाड़ा बाजे न   निर्मल पानी भवानी मां, ताल सगुरिया के हो   मना के लाबो जी,

दू लफाडू…

0 138 3

आगू के जमाना नदा जाहि रे भैया….   संग म लाए हे नवा फंडा, पाछू म परहि डंडा.. पान म जईसे चूना कत्था, एक हे लस्सी एक हे मट्‌ठा नैन लड़ाले बात बढ़ाले ऐ बाबू… मस्ती म झूमे भंवरा रे,

No Comments

No Comments Yet!

No Comments Yet!

But You can be first one to write one

Write a Comment

Your data will be safe!

Your e-mail address will not be published. Also other data will not be shared with third person.
Required fields are marked*