Home ताजा समाचार दुर्ग जिला म डेंगू ले मउत के आंकड़ा अब 17 पहुंचिस

दुर्ग जिला म डेंगू ले मउत के आंकड़ा अब 17 पहुंचिस

7
0

भिलाई। सहर म डेंगू के प्रकोप बढ़त जा हे। डेंगू ल खत्म करे बर सासन-प्रसासन ह अपन पूरा ताकत झोंक दे हे। लेकिन डेंगू ले मरइया मन के संख्या बढ़त जात हे। डेंगू ले ख़ुर्सीपार के राजीव नगर निवासी एक अउ महिला के मउत हो गिस। खुर्सीपार के बापू नगर, गौतम नगर अउ राजीव नगर के इलाका म मातम पसर गेहे। हर दूसर दिन एक लइका के मउत होवत हे। ये इलाका के लगभग 250 लोगन अस्पताल म पहुंच चुके हे। 32 वर्षीय पार्वती सिंह 11 अगस्त के सीएम नर्सिंग हॉस्पिटल कचांदुर म भरती रहिस हे, जेकर इलाज के दउरान मउत होगे। उहें खुर्सीपार इलाका के 7 माह के मासूम अर्थव के घलोक डेंगू ले मउत हो गिस। सेक्टर 9 अस्पताल म उंखर इलाज चलत रहिस हे। जिला म डेंगू ले मउत के आंकड़ा अब 17 पहुंच गेहे।
सहर म डेंगू के प्रकोप ल रोके बर जिला प्रसासन हर संभव प्रयास करे के आश्वासन अउ दावा करत हे लेकिन ये सब के बाद घलो मउत के सिलसिला थमे के नाम नइ लेवत हे। एक ओर जिहां निगम सहर के सबो वारड मन म सफाई, दवाई मन के छिड़काव, फॉगिंग मसीन के इस्तेमाल अउ निजी मेडिकल कॉलेज मन के छात्र मन ल घर-घर पहुंचा के कूलर साफ करवाय के काम करवात हे। ये सब के बाद घलो ख़ुर्सीपार के राजीव नगर म एक अउ महिला के मउत हो गिस। ये इलाका म लगभग 250 लोगन अस्पताल पहुंच चुके हे। अब मउत के आंकड़ा 17 जा पहुंचिस हे। सहर म लोग मन के मन म भय के माहुल हे, जेकर चलत लोग छोटे-छोटे बीमारी बर अस्पताल मन म पहुंचत हे। अस्पताल मन म भीड़ बढ़त जात हे।
15 अगस्त के भिलाई म डेंगू के 76 मरीज मिलिस हे। जेमा सबले जादा खुर्सीपार क्षेत्र म 40 डेंगू के पॉजीटिव मरीज पाय गिस हे। एक दिन म अतका जादा संख्या म डेंगू के पॉजिटीव मरीज मिलना प्रसासन के सबो व्यवस्था म सवाल खड़ा करत हे, अउ प्रसासन सिरिफ आस्वासन म आस्वासन मिलित हे। उहें अब सामाजिक संस्था मन के डेंगू के प्रकोप ल रोके बर मइदान म उतर गिस हे।
सरकारी आंकड़ा मन के बात करव त अब 600 संदिग्ध मरीज मन म ब्लड के सइम्पल म 300 डेंगू के पॉजिटिव मरीज पाय गिस हे। सरकार ह सबो निजी अस्पताल मन ल अतिरिक्त बेड लगाय बर अउ डेंगू के मरीज मन ल प्राथमिकता देय के निरदेस जारी कर दिस हे। बीएसपी के पंडित जवाहरलाल नेहरू समेत 14 निजी अस्पताल मन म पूरी तरह नि: सुल्क इलाज के सुविधा देय जात हे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.