Home विशेष आखिर ये चरचित अश्लील सीडी कांड म मुख्य आरोपी के ‘राम’ कउन...

आखिर ये चरचित अश्लील सीडी कांड म मुख्य आरोपी के ‘राम’ कउन हो?

37
0
अश्लील सीडी कांड
कैलाश मुरारका ह मीडिया ले चरचा करत एक संदेहास्पद बयान दिस हे

रायपुर। छत्तीसगढ़ के राजनीति म भूचाल लवइया मंत्री के कथित सेक्स सीडी मामला फेर ले उहीं संदेह के लकीर म खड़ा हो गिस हे, जिहां सले येखर सुरुआत होइस हे। सीडी कांड मामला म सीबीआई के जांच म मुख्य आरोपी कैलाश मुरारका ह मीडिया ले चरचा करत एक संदेहास्पद बयान दिस हे। ये बयान ह न सिरिफ राजनीतिक गलियारा मन बल्कि मामला म दिलचस्पी रखइया मन म घलो सवाल पइदा कर दिस हे अउ सोचे म मजबूर कर दिस हे के आखिर इस चरचित अस्लील सीडी कांड म मुख्य आरोपी के ‘राम’ कउन हे?
बुधवार के रायपुर जिला कोरट म जमानत मिले के बाद मुख्य आरोपी कैलाश मुरारका मीडियाल ले मुखातिब होइस। कैलाश मुरारका के कहिना हे मामला म प्रदेस कांग्रेस कमेटी के अध्यक्छ भूपेश बघेल पाक-साफ हे। सबो बात कोरट के आघू रखहूं। सीबीआई के आघू सबो सच्चाई रखे हव। मोला मामला म फंसाय जात हे। जमो सच आघू आही। ये बेयान के अलावा कैलाश मुरारका के एक अउ बेयान ह चरचा मन के दउर ल गरम कर दिस हे।
कैलाश मुरारका ह कहिन के ”मैं समाज के मुखिया ल राम समझथव। उंखर परिवार ल पूजत रहे हव, लेकिन मोला नइ मालूम के वो रावन निकलही। मामला म वो ह गवाह बन गेहे।”
कैलाश मुरारका के इही बेयान ह मामला म एक संदेहास्पद मोड़ ला दिस हे। अस्लील सीडी मामला म सीबीआई ह करीब 100 लोगन ल गवाह बनाय हे। येमा उद्योगपति, पत्रकार, नेता समेत अन्य लोगन सामिल ह। अइसे म सवाल उठत हे के कैलाश मुरारका कउन गवाह के ओर इसारा करत हे। बता दन के पाछु बछर 27 अक्टूबर के बिहनिया एक कथित सेक्स सीडी के मामला म देस के वरिष्ठ पत्रकार विनोद वर्मा ल छत्तीसगढ़ पुलिस ह गाजियाबाद ले गेरफ्तार करिस हे। ये मामला म भाजपा के एक पदाधिकारी प्रकाश बजाज ह रायपुर के पंडरी पुलिस थाना म रपट दरज कराय रहिस हे, जेमा उमन बताय रहिस हे के ओला एक फउन आय हे, जेमा उंखर ‘आका’ के सेक्स सीडी बनाय के बात कहे गेहे।
प्रकाश बजाज के एफआईआर म विनोद वर्मा के नाम को जिकर नइ रहिस हे, अउ न ही सिकायतकरता ह अइसे कोनो व्यक्ति नाम लिखवाय रहिस हे। जेला वो ह आका मानथे। हालांकि सिकायत म एक दुकान के जिकर रहिस हे, जिहां कथित तउर म सीडी के नकल बनाय जात रहिस हे। ये एफआईआर पत्रकार विनोद वर्मा के गेरफ्तारी के करीब 11 घंटे पहिली 26 अक्टूबर को दोपहर साढ़े तीन बजे के आसपास दरज कराय गिस हे। यानी के ये केस के सुरुआत जे बेरा म होइस, उहूं दउरान ये स्पस्ट नइ होय रहिस हे के आखिरकार सिकायत करता प्रकाश बजाज के ‘आका’ कउन हे? अब करीब एक साल बाद मुख्य आरोपी कैलाश मुरारका ह बेयान देके नवा सवाल खड़ा कर दिस हे के प्रदेस के राजनीति म भूचाल लावइया कथित अस्लील सीडी मामला म ‘राम’ कउन हे?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.