Home विशेष ओडीएफ जिला के मिले हे तमगा फेर टॉयलेट म कपड़ा के दरवाजा,...

ओडीएफ जिला के मिले हे तमगा फेर टॉयलेट म कपड़ा के दरवाजा, अईसन हे हमर मुंगेली जिला के हाल

6
0

नवनीत शुक्ला, मुंगेली

सफाई के पता नई हे तभो ले मुंगेली जिला ल मिले रहिस हमर देस के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथ ले ओडीएफ के तमगा। काबर कि हमर मुंगेली के बहुत बड़े खासियत हे कि इहां हर काम कागज म हो जाथे। चाहे बात शौचालय के होवय या साफ सफाई के या फेर आवास के, हर जगह मुंगेली ह अपन नाम ल रोशन करत हे। केंद्र सरकार के स्वच्छ भारत मिशन के तहत अवईया पईसा कहां जाथे पता नई। गांव म एे हालत हे कि उहां न तो शौचालय ठीक ले बने हे अउ न आवास के गुणवत्ता पूर्ण निर्माण होय हे। इहि हाल नगर पालिका के बने आवास म तक देखे जा सकथे।

जर्जर हो गे हे शौचालत
जर्जर हो गे हे शौचालत

एक कोति जिहां केंद्र सरकार ह स्वछता अभियान चलावत हे उहें मुंगेली के अधिकारी मन अपन पीठ थपथपाए बर सिरिफ कागजी लीपापोती करत हे। एखर उदहारण हमर प्रदेश सरकार म मंत्री अउ मुंगेली बिधायक के गोद ग्राम देवरी म देखे बर मिलथे। जिहां के शौचालय,, सीसी रोड़,, नाली,, आवास,, सब के हालत ह अबड़ ख़राब हे। कई घर के शौचालय मन मा न दरवाजा लगे हे,, न छबाय हे न पोताय हे,, कोनो-कोनों जगह पर्दा लगा के काम चलत हे। शौचालय के बइठे के सीट घलोक टूट गेहे ,,सोख्ता के गढ्ढा हर खुल्ला परे हे जेन म नान-नान लइका मन के गढ्ढा म गिरे के घलो ख़तरा हे। दीवाल अउ छत म दरार आ गेहे, कई जगह के शौचालय हर तो गिरे के हालत म आगे हे। गाँव के आदमी मन अपन घर म बने शौचालय ल अब डर्राए ल घलो लाग गे हे। काबर कि कब भासक जाहि तेखर कोनों पता नहीं हे। इही कारण हे कि कई झन शौचालय के जगह म नई जाए। लोटा धरके बाहिर खुले मैदान म शौच बर जाथें। जहाँ सरकार ह अतका पैसा खर्चा करत हे। उहें गांव वाले मन म सरपंच अउ सचिव के लापरवाही के चलते अउ मंत्री के गोद ग्राम के अनदेखी के सजा ल देवरी गांव के जनता हर भोगत हे। एखर बाद भी हमर मंत्री ह आज तक गांव के सुध नई लेवत हे।

जर्जर हो गे हे शौचालत
जर्जर हो गे हे शौचालत

ऐ बात ह सिरिफ देवरी भर के नोहे मुंगेली जिला म आने वाला हर पंचायत म इही हालत हे। आवास पूरा होय के बाद हितग्राही के उपयोग करे के पहिली ओमन ल उपयोगिता प्रमाणपत्र न तो आवास बर दे गे हे न शौचालय बर। निर्माण के समय म तक कोइ जाँच बर गिस ये बात ह कहना उचित नहीं हे काबर की अगर गे होतिस तव ये हालत नई होतिस निर्माण के। ये सब म बिधायक के चु्प्पी ह चिंता के बात हे। लोगन मन के कहना हे कि कई पईत जनदर्शन म ए बात के शिकायत करे गिस लेकिन आज तक कोनो सुनवाई नई होइस। अब मंत्री जी ले ही उम्मीद हे कि वो दखल देवय अउ अपन जनता बर कुछ करय।

जर्जर हो गे हे शौचालत
जर्जर हो गे हे शौचालत

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.