Home ताजा समाचार ये बछर होइस नक्सली मन ल बड़ नुकसान … दंडकारण्य म 150...

ये बछर होइस नक्सली मन ल बड़ नुकसान … दंडकारण्य म 150 के मउत

7
0

जगदलपुर/ रायपुर। येस बछर सन 2018 म पुलिस के संग मुठभेड़ म नक्सली मन ल बड़ नुकसान होइस हे। नक्सली मन ह पुलिस मुठभेड़ म मारे गिस अपन साथी मन के सूची जारी करिन हे। जेकर अनुसार देस भर म 200 नक्सली मारे गिस हे, उहें छत्तीसगढ़ के दंडकारण्य म 150 नक्सली मन के मउत होइस हे। ये लोगन म एक सेंट्रल कमेटी के मेंबर घलो सामिल हे। येमा सबले बड़ चउकाये वाले बात ये हे के मुठभेड़ म मारे गे नक्सली मन म 72 महिला सामिल हे। दक्छिन सब जोनल ब्यूरो भाकपा(माओवादी) के ओर ले ये परचा जारी करे गेस हे। गउरतलब हे महाराष्ट्र, ओडिशा, तेलंगाना के सीमा के क्षेत्र अउ बस्तर संभाग के सीमा के क्षेत्र दंडकारण्य जोन म आथे।
दण्यकारण्य म सीपीआई(माओवादी) ह जारी प्रेस रिलीज म कहिन के पाछु एक साल म हमन अपन कतको साथी, गुरिल्ला आरमी के कमांडरस, गुरिल्ला फाइटरस अउ अन्य कतको टीम मन के साथी मन ल खो दे हन। उमन ह ये प्रेस रिलीज म कहिन के हमार सारे साथी समाजवाद अउ साम्यवाद के सपना ल पूरा करत हुए मरिन हे। हालांकि येमा ये घलो कहिन के येमा कतको स्वाभाविक कारन मन ले मउत घलो होइस हे। अइसे मउत मन म सेंट्रल कमेटी मेंबर बारुण दादा अउ सीनियर कॉमरेड शहीदा दीदी सामिल हे।
पाछू बठर भर म जेस तरह के आक्रामक होइस पुलिस ह ले इलाका म ऑपरेसन चलात हे अउ विसेस तउर म सुकमा इलाका ल टारगेट करे हे। जे माओवादी मन के दक्छिन रीजनल कमेटी के इलाका हे। ये इलाका म माओवादी मन ल सरवाधिक नुकसान उठाना पड़िस हे। ये इलाका 2013 तक माओवादी के सबले मजबूत गढ़ माने जात रहिस हे अउ ये इलाका म माओवादी मन के समानांतर सरकार चलथे बावजूद येकर पुलिस के ऑपरेसन म पाछु 1 बछर म 65 माओवादी कमांडर ये इलाका म मारे गेहे।
पुलिस के कहिना हे के लगातार माओवादीमन के जनाधार कमजोर होवत जात हे अउ जल्द ही बस्तर इलाका म माओवादी मन के पकड़ कमजोर हो जाही अउ अब पुलिस ये इलाका म अउ ऑपरेसन चलाय को तइयारी करत हे।
बैकफुट म नक्सली : डीआईजी डागी
बस्तर डीआईजी रतनलाल डागी कहिन के हां नक्सली परचा मिले हे। ये परचा म देश भर म हुए नक्सली मन के मउत के आंकड़ा हे। परचा ले ये पता चलत हे के नक्सली अब बैकफुट म हे। दण्डकारण्य इलाका म नक्सली मन ल भारी नुकसान होइस हे। हम माओवादी मन के खेलाफ अभियान जारी रखें हन।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.