Home ताजा समाचार कोण्डागांव: तम्बू तरी रहे म मजबूर हे अरंडी गांव के ग्रामीन, ये...

कोण्डागांव: तम्बू तरी रहे म मजबूर हे अरंडी गांव के ग्रामीन, ये हवय वजह

255
0
Arandi village villagers are forced to live in the tent

कोण्डागांव. जिला म श्मशान भूमि म कब्जा के बात कहिके आरंडी गांव के पांच परिवार के मकान तोड़ देय गे हे. आज ये परिवार अपन टूटह आशियाना के बाहिर टेंट लगाके जीये म मजबूर हवय. परिवार के लोग मन खुले आसमान के तरी तम्बू म रहत हवय. परिवार के लोग अपन टूटे घर के मलबा के तरी दबे सामान मन ल खोजत हवय. ये परिवार मन ल पुलिस विभाग अउ ग्रामीन मन ह मदद करत हुए सहारा दिन.

घटना के चार दिन बाद कलेक्टर नीलकंठ टेकाम ह ग्राम सभा म पीड़ित परिवार मन ले मुलाक़ात करिन. फेर कोनो नतीजा नई निकलिस. पीड़ित परिवार मन के कहिना हे के, जिला प्रशासन न त हमर गुहार सुनत हे अउ न ही हमर बर कोनो उचित बेवस्था करत हवय.

पीड़ित परिवार मन के कहिना हे के अपन टूटहा घर अउ बगरत जिनगी ल संवारे बर पीडित मन ह जिला प्रशासन ले मदद मांगिस. फेर प्रसासन के ओर ले एसडीम ह नियम मन के हवाला देके मदद देय ले इनकार कर देय हे. उंखर कहिना हे के हमन ल जिला प्रशासन ल उम्मीद रहिस हे, उहां घलो निराला ही हाथ लगिस.

पीड़ित परिवार मन ल मिले बर केशकाल पहुंचे पूर्व विधायक कृष्ण कुमार ध्रुव ह कहिन के, जिला प्रसासन के लापरवाही के बजह ले ये घटना होईस हे. तथाकथित रूढ़िवादी लोग मन ह पीड़ित के संग-संग जिला प्रसासन ल घलो लिखित जानकारी देय रहिस हे उहें. पीड़ित लोगन मन ह घलो सुरक्षा के मांग करे रहिस हे. फेर जिला प्रसासन लापरवाह बने रहिस.

पुलिस ह करिस कार्रवाई
अरंडी के घटना के बाद पुलिस ह ताबड़तोड़ कार्रवाई करत हुए 10 लोगन ल अब तक गेरफ्तार करे हवय. संगेच मकान तोड़े बर लाएगे जेसीबी ल घलो जब्त कर लिस हे. एसडीओपी योगेश देवांगन ह बताइस के, घटना के बाद ले पुलिस ह गांव म ही अस्थाई डेरा बनाये हवय. ए मामला म अब तक 48 लोगन के खेलाफ नामजद एफआईआर दर्ज करे गे हे. संगेच पीड़ित परिवार मन के हरसंभव मदद करे जात हवय.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.