सियासत

कांग्रेस ल अब याद आथे सियान, सत्ता म काबिज होए बर बनाथे रणनीति

चुनाव म वरिष्ठ कार्यकर्ता मन ल तरजीह दे के लगात हे जुगत

रायपुर. अब्बड जुन्ना कहावत हे कि जब कोनो रद्दा नई दिखे अउ कठिन रद्दा ल सरल बनाना हे तो सियानमन के तिर जाए बर पड़थे। छत्तीसगढ़ म सत्ता के वनवास झेलत कांग्रेस ह इही रद्दा म चले बर तैयारी करत हे। विधानसभा चुनाव सिर म हावे तब कांग्रेस ल अपन सुतभुलाए नेता मन के याद आगे हे।

कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के ताकीद करे के बाद इहां के जम्मो आला नेता मन ह ऐ कोशिश करत हे कि भूले हुए सियान नेता मन ल टटोलना अब जरूरी हो गे हे। काबर कि चुनाव म परचम लहराना हे त ऐखर मन के दुख सुख के खयाल रखे बर पड़हि। इही वजह हे कि छत्तीसगढ़ कांग्रेस ह अपन पुराना अउ सियान कार्यकर्ता अऊ वरिष्ठ नेता मन के पूछपरख ल बढ़ा दे हे। एखर संगे संग ऐ मन कहां रहिथे ऐ बात के पूछताछ शुरू कर दे हे। ऐ कोति छत्तीसगढ़ कांग्रेस कमेटी के प्रभारी सचिव कमलेश्वर पटेल के अगुवाई म राज्य के अलग-अलग जगह म संगठन म बदलाव लाए के कार्यक्रम ल घलो शुरू कर दे हे। कांग्रेस प्रभारी सचिव कमलेश्वर पटेल के कहना हे कि कोनों बखत अब्बड़ सक्रिय सदस्य रेहे कार्यकर्ता मन ह आ चुपचाप बईठ गे हे। ओमन ल सक्रिय करे बर कोशिश करे जात हे। ऐखर सति बूथ सेक्टर अउ जोन कमेटी म बदलाव लाए जात हे।

पार्टी के कहना हे कि “बूथ फाइव यू“ इही टैग लाईन ल ध्यान म रखत कामकाज शुरू करे गे हे। देश ल आजादी दिलाए से लेकर अब तक कांग्रेस के जेन जेन उपलब्धि हाबे ओला जन-जन तक पहुंचाए के रणनीति बनाए गे हे। एखर संगे-संग केंद्र व राज्य सरकार के नाकामी के संदेश ल गांव-गांव अऊ घर-घर पहुंचाए के बात कहे जात हे। एखर बर पुराना अउ घरेलू कार्यकर्ता मन ले बेहतर अऊ कोनों नई हो सके। राहुल गांधी ह खासतौर  म टिप्स दे  हे कि घरेलू स्तर के मुद्दा ल जोर-शोर ले उठाए जाए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close