ताजा समाचार

धूप ले बचे बर नायाब तरीका ढूंढ निकालिस आंगनबाड़ी कार्यकर्ता मन

नइ मिलिस इजाजत....यूनिफार्म वाली साड़ी मन के बना लिस टेंट

अम्बिकापुर । सरगुजा जिला प्रशासन ह आंगनबाड़ी कार्यकर्ता मन के टेंट उखड़वा दे के असर हड़ताल म पड़त नजर नइ आवत हे। शासकीय अवकाश के दिन आंगनबाड़ी कार्यकर्ता मन ह धूप ले बचके नायाब तरीका ढूंढ निकालिस हे। शासन स्तर ले बतौर यूनिफार्म जिस रंग के साड़ी मन आंगनबाड़ी कार्यकर्ता बर निर्धारित करे हे। उहीं साड़ी मन ल जोड़ के कार्यकर्ता मन ह टेंट के स्वरूप दे हे। उखरे के नीचे खड़े होके शासन-प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी करिस,,,आंदोलनकारी आंगनबाड़ी कार्यकर्ता मन के कहिना हे कि प्रशासन ह हमन ल टेंट-पंडाल लगाये के इजाजत नइ दीस, एखर सेती हमन यूनिफार्म वाली साड़ी मन के ही टेंट बना लेन। पहिली दिन7-8 साड़ी मन ल जोड़ के ही टेंट के स्वरूप दे गेहे। एक-दो दिन के बाद एला अउ अधिक साड़ी मन ल जोड़ के टेंट के स्वरूप दे जाही। अउ उखरे के नीचे बइठ के ओमन ह अपन मांग ल लेके धरना प्रदर्शन करही।

36 बछर बाद ओकर हक मिलिस एक महिला ल
बिलासपुर हाईकोर्ट ले एक महिला ल 36 बछर बाद ओकर हक मिलिस हे। असल म खाली असिक्षित होय के चलत महिला अपन पति के मउत के बाद पेंसन अऊ PF के रासि बर SECL प्रबंधन ल आवेदन नइ दे पाय रिहिस। आखिरकार 36 बछर बाद कोर्ट ह SECL प्रबंधन ह महिला ल 5 लाख रूपिया मुआवजा दे के आदेस दिस हे। आप मन ल बता दन कि महिला के पति के रिटायरमेंट के बाद, 27 फरवरी 1982 के ओकर मउत हो गिस। जेकर बाद असिक्षित होय के चलत महिला नेश्नल कोल वेज एग्रीमेंट के तहत परिवार पेंसन, CMPF रासि अऊ अनुकंपा नियुक्ति बर आवेदन नइ कर पाइस। जब महिला के बेटा ह 2000 म SECL ल आवेदन देके CMPF रासि अऊ अनुकंपा नियुक्ति दे के मांग करिस। फेर SECL ह आवेदन ल निरस्त कर दे रिहिस।

सूरजपुर म हाथी मन के उत्पात चरम सीमा म
सूरजपुर म पाछु कई बछर ले हाथी मन के उत्पात चरम सीमा म हे। बन बिभाग अऊ प्रसासन तमोर पिंगला वनपरिक्षेत्र म लगभग 7 करोड़ के लागत वला हाथी रेस्क्यू सेंटर के निर्मान करे जात हे। फेर अभु तक एकर निर्मान नइ हो सके हे। हाथी आए दिन किसान मन के फसल अऊ घर ल नुकसान पहुंचात हे, उहें कई दरी हाथी के चपेट म आए ले कतको झन के मउत हो गे हे। संग ही केरल ले छत्तीसगढ़ म लाय गए कुमकी हाथी ल घलो रेस्क्यू सेंटर म लाए जाना हे, फेर रेस्क्यू सेंटर के निर्मान के काम अभु तक अधूरा पड़े हे। फेर जिला के कलेक्टर जल्दी ही रेस्क्यू सेंटर बनाय के दावा करत हे।

भारत बछर 2030 म कइसे हो? एकर बर अभिलाष साइकिल यात्रा करत कवर्धा पहुंचिस 
भारत बछर 2030 म कइसे हो? एकर बर एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर अभिलाष अऊ पंकज मल साइकिल यात्रा म निकले हें। दून्नों झन यात्रा गुजरात के कच्छ ले ओडिशा के पुरी तक 3 हजार किमी के यात्रा ल 30 दिन म पूरा करे के लक्ष्य राखे हे। जेमें दून्नों अब तक 2 हजार किमी ले ज्यादा के दूरी तय कर ले हे। एमें एक युवक अभिलाष साइकिल यात्रा करत कवर्धा पहुंचिस, जिहां लोगन मन ओकर स्वागत करिन अउ ओकर मुहिम के तारीफ करिन।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close