Home साक्षात्कार छत्तीसगढ़ी परिवेश के जम्मो रंग, कवि मीर अली “मीर” के संग.. ए...

छत्तीसगढ़ी परिवेश के जम्मो रंग, कवि मीर अली “मीर” के संग.. ए दरी “जोहार पहुना” म हमर पहुना हे ठेठ छत्तीसगढ़िया

768
0

जय जोहार. गांव के नंदावत अऊ छत्तीसगढ़िया पन के झलक दिखावत हमर आज के बिसेस गोठ-बात.. नीचे बिडियो ल देखहु जरूर काबर कि दावा हे बिसरे याद ह हो जाही ताजा….

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.